अपने बच्चे के भविष्य के लिए करना चाहते हैं निवेश, PPF है बेहतर विकल्प

 

नई दिल्ली। शिक्षा और जीवन की बढ़ती लागत के साथ माता-पिता को पहले से ही यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले। वैसे बाजार में कई उत्पाद उपलब्ध हैं जो माता-पिता को उनके बच्चे के भविष्य के लिए पैसे बचाने में मदद कर सकते हैं। उनमें से अधिकांश गारंटीशुदा रिटर्न हैं। लेकिन, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) एक ऐसी योजना है जिसमें EEE टैक्स बेनिफिट लाभ मिलता है। हालांकि, इसमें 15 साल की लॉक-इन अवधि बहुत लंबी है। इसका मतलब यह नहीं है कि माता-पिता पीपीएफ को बच्चे की निवेश पसंद के रूप में नहीं चुन सकते हैं। नाबालिगों के लिए पीपीएफ खाता काफी बढ़िया है। PPF खाते खोलने के लिए अधिकृत माइनर PPF खाता डाकघर या नामित बैंक शाखा के साथ खोला जा सकता है। केवल एक अभिभावक ही खाता खोल सकता है। माता और पिता दोनों एक ही नाबालिग की ओर से खाता नहीं खोल सकते हैं। माता-पिता की मृत्यु के बाद कानूनी अभिभावक नहीं होने तक नाबालिग बच्चे के लिए दादा-दादी द्वारा पीपीएफ खाता नहीं खोला जा सकता है।

जरूरी दस्तावेज़

अभिभावक को पीपीएफ खाता खोलने के फॉर्म में नाबालिग के साथ अपना डिटेल देना होगा। भरे हुए फॉर्म के साथ अभिभावक के केवाईसी दस्तावेज, फोटोग्राफ, नाबालिग बच्चे का आयु प्रमाण (आधार कार्ड या जन्म प्रमाण पत्र), पीपीएफ खाते में 500 रुपये जमा करना होगा। पीपीएफ खाता खोलते समय एक नॉमिनी को पंजीकृत करना बेहतर होगा।

न्यूनतम और अधिकतम निवेश

एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम योगदान 500 रुपये है जबकि अधिकतम योगदान 1.5 लाख रुपये है। आपके और नाबालिग बच्चे के पीपीएफ खाते में वार्षिक योगदान 1.50 लाख रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए। PPF की ब्याज दर 7.1% पर एनम है।

कम लॉक-इन अवधि

यदि आप युवा होने पर अपने बच्चे के लिए पीपीएफ खाता खोलते हैं, तो जब तक वे वयस्क होंगे, लॉक-इन अवधि बहुत कम हो जाएगी। उदाहरण के लिए, जब बच्चा 10 साल का है यदि आप अपने नाबालिग बच्चे के नाम पर पीपीएफ में निवेश करना शुरू करते हैं, तो यह पीपीएफ खाता 15 साल के लॉक-इन अवधि को पूरा करेगा, जब तक बच्चा 25-26 साल का नहीं हो जाता।

Leave A Reply

Your email address will not be published.