अगर ये लक्षण दिखें तो समझ जाइये Heart में कुछ गड़बड़ है

If these symptoms are seen, then understand that there is something wrong in the heart.

Image Source : Google

कहते हैं हर बीमारी आने के पहले कई तरह के संकेत देती हैं। हार्ट अटैक के मामले में भी यही होता है। हार्ट अटैक (Heart Attack) अचानक नहीं आ जाता, इसके आने के पहले कई तरह के लक्षण दिखते हैं। जब लगे जानलेवा थकान जब हर दिन बिना कुछ खास मेहनत किये भी शरीर में जानलेवा थकान महसूस हो तो समझ जाइये यह मामला महज काम से थकने भर का नहीं है।

वास्तव में यह हार्ट अटैक की दस्तक हो सकती है। दरअसल जब हृदय की धमनियां कोलोस्ट्रोल के कारण बंद या संकुचित हो जाती हैं, तब दिल को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और इस कारण हमें बहुत ज्यादा थकान का एहसास होता है। एक उम्र के बाद सीढ़ियां चढ़ने में सांस फूलना कोई अनोखी बात नहीं है।

लेकिन जब महज 10 सीढ़ियां चढ़ने पर ही हम हांफने लगें या आधा किलोमीटर पैदल चलने में भी सांस लेने में बेचैनी महसूस हो, जब लगे कि हमारे सांस लेने का तरीका बदल रहा है, तो समझ जाइये ये महज सांस का मामला नहीं है, इसके तार दिल से जुड़े हो सकते हैं। क्योंकि जब दिल अपना काम सही तरीके से नहीं कर पाता तो फेफड़ों तक इतनी मात्रा में आॅक्सीजन नहीं पहुंचती जितनी पहुंचनी चाहिए। इसलिए सांस लेने में दिक्कत पैदा होती है।

पंजे और टखने में बार-बार सूजन जब शरीर के सभी हिस्सों पर रक्त पहुंचाने के लिए दिल को जरूरत से ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है तो हमारी शिराएं खुल जाती हैं और उनमें रह-रहकर सूजन आने लगती है। यह सूजन आमतौर पर पैर के पंजों और टखने में आती है। कभी कभी होंठों में भी यह सूजन नीली या स्याह पपड़ी के साथ दिखती है। सूजन के ये लक्षण काफी खतरनाक हैं, जब महीने में कम से कम दो से तीन बार ऐसी स्थितियां बन जाएं तो बिना किसी देरी किये डॉक्टर को दिखाएं।

जब सीने में हो जलन यह हार्ट अटैक का सबसे आम लक्षण है। सीने में जलन के कई कारण होते हैं। एसिडिटी, खाना हजम न होना आदि के कारण भी सीने में जलन होती है और खट्टी डकार आने लगती हैं। लेकिन यह कभी कभार होता है। लेकिन जब यह हार्ट अटैक का सांकेतिक लक्षण हो तो आप महसूस करेंगे कि सीने में सिर्फ जलन का ही एहसास नहीं हो रहा बल्कि कुछ अलग तरह से भी महसूस हो रहा है। इसलिए सीने में असहजता पैदा करने वाली जलन से सावधान रहिए।

जब लगातार सर्दी लगे सर्दी हर किसी को लगती है। लेकिन शरीर का एक तरीका है कि एक स्थिति के बाद वह इसे मैनेज कर लेता है। लेकिन जब लगातार सर्दी लगे। कंट्रोल ही न आती लग रही हो तो यह दिल के दौरे का संकेत हो सकता है। जब दिल हर जगह शरीर में रक्त संचार को सुनिश्चित नहीं कर पाता तो शरीर में कंपकपी के साथ ठंड लगती है और कई बार कंपकपी भी नहीं होती लेकिन हल्की हल्की ठंड का एहसास होता रहता है। निश्चित रूप से ये फेफड़ों की समस्या है और ऐसा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें।

Source Link