किसानों पर महंगाई की दोहरी मार, DAP-NPK के दामों में भारी बढ़ोत्तरी, जानिए किसानों पर क्या पड़ेगा असर (AKI News)

किसानों पर महंगाई की दोहरी मार, DAP-NPK के दामों में भारी बढ़ोत्तरी, जानिए किसानों पर क्या पड़ेगा असर

किसानों पर महंगाई की दोहरी मार, DAP-NPK के दामों में भारी बढ़ोत्तरी, जानिए किसानों पर क्या पड़ेगा असर (AKI News)

 

DAP and NPK price hike

DAP and NPK price hike पहले से ही महंगाई की मार झेल रहे किसानों (Farmers) को एक और झटका लगा है. भारत की प्रमुख सहाकरी संस्था इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (IFFCO) ने डाय अमोनियम फॉस्फेट (DAP) और एनपीके की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी है. सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले खाद में से एक डीएपी की कीमतों में 150 रुपए की वृद्धि की गई है. किसान पहले से ही डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान हैं. अब उन्हें खाद भी अधिक दाम देकर खरीदनी होगी. इससे कृषि लागत में काफी इजाफा होगा.

इससे पहले भी इफको सहित कई खाद बनाने वाली कंपनियों ने उर्वरक की कीमतों में बढ़ोतरी की थी. लेकिन सरकार ने किसानों के हित में निर्णय लेते हुए सब्सिडी की राशि बढ़ा दी, जिससे किसानों पर बढ़ी हुई कीमतों का बोझ नहीं पड़ा. पिछले कुछ समय से अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद और खाद के लिए इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल की कीमतों में तेजी का दौर जारी है. रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण स्थिति और दयनीय हो गई है.

युद्ध के कारण खाद की वैश्विक कीमतों में तेजी
रूस से बड़ी मात्रा में खाद का कच्चा माल आता है, लेकिन रूस पर लगाए गए पश्चिमी देशों के प्रतिबंध और सप्लाई चेन प्रभावित होने के कारण कीमत पहले के मुकाबले काफी बढ़ी है. इफको के अधिकारियों का कहना है कि वैश्विक स्तर पर बढ़ी कीमतों के कारण खाद के दाम में इजाफा किया गया है. कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पहले पैक हो चुके खाद पुरानी कीमत पर ही मिलते रहेंगे. नई पैकिंग के लिए किसानों को बढ़ा हुआ दाम देना पड़ेगा.

इफको ने दाम बढ़ाने का निर्णय तब लिया है जब कुछ दिन पहले ही संसद में रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा था कि सही कीमत पर खाद उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है. उन्होंने कहा था कि सरकार डीएपी पर 2650 रुपए प्रति बोरी सब्सिडी दी जा रही है. सरकार का पूरा प्रयास है कि कीमतों में वृद्धि का भार किसानों पर नहीं पड़े, इसलिए वह सब्सिडी का पूरा भार उठा रही है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.