एलन मस्क बने दुनिये के सबसे आमिर इंसान उन्होंने अपना पहला गेम बेचा 12 साल की उम्र में (AKI News Breaking Report) & All Breaking News & Video Breaking News

elon musk wants to send 1 million people on mars

Elon Musk (एलन मस्क) दुनिया के सबसे अमीर इंसान बन गए हैं. इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला इंक (Tesla Inc.) और स्पेसएक्स (SpaceX) के सीईओ हैं एलन मस्क (Elon Musk). (Elon Musk is the richest person on earth)

एलन मस्क

गुरुवार को टेस्ला के शेयरों में 7.94 फ़ीसदी की उछाल के बाद Musk Amazon के फाउंडर जेफ बेजोस (Jeff Bezos) को पछाड़कर दुनिया के अमीर शख़्स बन गए. 

Bloomberg Billionaires Index के मुताबिक, मस्क की नेटवर्थ को 195 अरब डॉलर (करीब 14,23,500 करोड़ रुपये) पहुंच गई। बेजोस अक्टूबर 2017 से दुनिया के सबसे बड़े रईस की कुर्सी पर थे और इस समय उनकी नेटवर्थ 185 अरब डॉलर है. वह संभवतः दुनिया में सबसे तेजी से कमाई करने वाले शख्स हैं. मस्क ने पिछले एक साल के दौरान हर घंटे 1.736 करोड़ डॉलर यानी करीब 127 करोड़ रुपये कमाए. इसकी वजह यह है कि दुनिया की सबसे मूल्यवान ऑटो कंपनी टेस्ला के शेयरों में अभूतपूर्व तेजी आई है. लगातार प्रॉफिट और प्रतिष्ठित एसएंडपी 500 इंडेक्स (S&P Index) में शामिल होने से पिछले साल कंपनी के शेयर 743 फीसदी चढ़ा. टेस्ला का शेयर 816 डॉलर के ऑल टाइम हाई पर ट्रेड कर रहा था. 

Elon Musk Facts in Hindi

Elon Musk Facts in Hindi

वैसा ऐसा पहली बार नहीं है जो एलन मस्क सुर्ख़ियों का हिस्सा बने हैं. इससे पहले भी वो कई कारणों से चर्चा में रहे हैं. दुनिया के सबसे अमीर आदमी से जुड़ी कुछ बातें, जो उनके जितनी ही रोचक हैं (Facts About Elon Musk in Hindi) 

  1. Elon Musk ने 12 वर्ष की उम्र में ही BLASTER नाम का एक गेम बनाया. इस गेम को उन्होंने [ PC & Office Technology Company ] को 500 डॉलर में बेच दिया. BLASTER गेम को उन्होंने commodore vic 20 नाम के computer से बनाया था. इस गेम का Online Version आज भी इंटरनेट पर मौजूद है.  
  2. Elon Musk एक दिन में 12 घंटे से ज्यादा समय किताबे पढ़ने में बिताते हैं.
  3. कहा जाता है कि जब वो कॉलेज में थे, तो वे अपने एक दिन के खाने पर 1 $ से भी कम ख़र्च करते थे. 
  4. Elon शusk ने एक समय में अपने दोस्त का किराए पर लिया था और हर वीकेंड की शाम वे उस घर को अपने कॉलेज के दोस्तों के लिए Nightclub में बदल देते थे. इस nightclub की Entry Fees 5$ होती थी कभी-कभी nightclub में 500 से अधिक लोग आ जाते थे. 
  5. अपने भाई के साथ मिलकर उन्होंने Zip 2 नाम की सॉफ्टवेयर कंपनी शुरू की. यह कुछ-कुछ Google Maps की तरह काम करती था. Zip 2 को Musk ने 22 मिलियन डॉलर में COMPAQ कंपनी को बेचा था. 
  6. 1999 में उन्होंने अपनी ज़िन्दगी की पहली कार McLaren F1 ख़रीदी थी. लेकिन कुछ साल बाद इस कार के Insurance क़ा ख़र्च न उठा पाने के कारण उन्होंने इस कार को बेच दिया. 
  7. 1999 में Elon Musk ने 10 मिलियन डॉलर इन्वेस्ट कर x.com [ financial service company ] का स्थापना की. एक साल बाद x.com, Confinity नाम की कंपनी के साथ मर्ज हो गई. इसे आगे चलकर PayPal के नाम से जाना जाने लगा. 2002 में eBay ने PayPal को 1.5 बिलियन डॉलर में खरीद लिया, जिसमें Elon Musk का हिस्सा 165 मिलियन डॉलर था. 
  8. 2008 में Musk टेस्ला के CEO बने, 2013 में Solar City U.S.A में Solar Power System मुहैया कराने वाली Tesla दूसरी सबसे बड़ी कंपनी बन गई. 

 

अपने परिवार में इकलौते फ़ेमस व्यक्ति नहीं हैं Elon Musk (Elon Musk Family) 

SpaceX CEO Elon Musk celebrates

उनके पिता Errol musk एक प्रख्यात इंजीनियर और पायलट थे. उनकी मां Maye Musk Model के साथ-साथ एक Dietician भी हैं. Elon Musk Wife, इनकी पहली पत्नी का नाम Justin Musk था, वो एक लेखिका थी.   

 

Bird Flu: Kanpur Zoo को अगले आदेश तक किया गया बंद, 10 किमी के दायरे में मांस बिक्री पर रोक

 

PM Modi ने किया वैक्सीन की तारीख का ऐलान, भारत से भागेगी महामारी

 

16 जनवरी से शुरू होगा वैक्सीनेशन, पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को टीका

 

Shahnawaz Hussain ने Vaccine की डेट को लेकर देश को बधाई

 

देश भर में बढ़ता जा रहा है Bird Flu का खतरा, Delhi में मुर्गे-मुर्गियों के आयात पर रोक

 

कितने लोगों को पहले चरण में वैक्सीनेट करना है, देखिए Maharashtra से ये रिपोर्ट

 

Morning News: आज की ताजा खबर | 10 January 2021 | Top Headlines |

 

Pak के कई शहरों में एक साथ बत्ती गुल, Islamabad से Karachi तक सभी शहर अंधेरे में डूबे

 

बिना बिजली और पेट्रोल के चलेगी ये अनोखी इलेक्ट्रिक कार! |

 

Jio मार सकती है 5G सर्विस में बाजी! |

 

TATA के नाम एक और रिकॉर्ड! |

 

कोरोना काल में भारत हो गया मालामाल, दुनिया हो गई कंगाल! |

 

Signal App बना नंबर 1, WhatsApp हो गया पीछे! |

 

Amazon में काम करने का सबसे बेहतरीन मौका! |

 

Corona Vaccine | सामने आ गई वैक्सीन की असल कीमत! |

 

कार खरीदने वालों को करना होगा और इंतजार! |

 

Petrol | अगले महीने लगेगी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आग! |

 

अब आपको सरसों का तेल पड़ेगा महंगा! |

 

WhatsApp | अब ‘दादागीरी’ पर उतर आया WhatsApp, शर्त मानी तो पब्लिक में आ जाएगी प्राइवेट डिटेल।

 

Trump की इतनी बेइज्जती पहले कभी नहीं हुई होगी! |

 

झारखंड: 50 साल की विधवा से गैंगरेप, निजी अंगों में स्टील का गिलास डालने की कोशिश

 

झारखंड में एक बेहद शर्मनाक घटना घटी है, जिसमें एक विधवा महिला से कथित तौर पर निर्ममता से बलात्कार किया गया और उसके निजी अंगों में स्टील का गिलास डालने की कोशिश की गयी. यह घटना झारखंड के चतरा जिले के कोबना गांव की है. यहां गुरुवार रात एक 50 वर्षीय विधवा महिला से तीन युवकों ने कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया. FIR के अनुसार, पड़ोसी इलाकों के तीन युवकों ने विधवा के घर में घुसकर उसके साथ गैंगरेप किया. महिला घर में अकेले रहती है.

पीड़िता के साथ बलात्कारियों ने बर्बरता की. महिला को हंटरगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है और उसकी हालत गंभीर है. पुलिस के अनुसार, बबलू पासवान और बिट्टू पासवान के रूप में पहचाने गए आरोपी व्यक्तियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया गया है और तीसरे की तलाश में है.

rape-protest-close-up-5fb3b685ef6bb-5fd2144529d51

हाल के वर्षों में यौन हमलों की संख्या में वृद्धि हुई है, जिसमें पीड़ित के साथ हिंसा की जाती है. निजी अंगों में इस तरह इस बर्बरता की वजह से कई महिलाओं की मौत हो जाती है. इससे पहले बदायूं में भी 50 वर्षीय महिला के पैर और पसलियां टूट गईं जबकि उसके फेफड़ों पर किसी भारी वस्तु से हमला किया गया. शव परीक्षण से पता चला है कि महिला के निजी अंगों में लोहे की छड़ डाली गई थी, जिससे भारी रक्तस्राव हुआ था.

महिला गांव के मंदिर में गई थी, जहां पुजारी और उसके दो सहयोगियों सहित तीन लोगों द्वारा उसका यौन उत्पीड़न किया गया था. यह मामला उस रात सामने आया जब पुजारी और उसके साथियों ने पीड़िता के शव को अपने घर ले गए और कहा कि यह मंदिर परिसर में एक सूखे कुएं में पाया गया था.

 

File Photo

जबकि दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था और मुख्य अपराधी महंत सत्य नारायण के रूप में पहचाने गए पुजारी भाग गया था. उसे पुलिस ने गुरुवार रात एक अनुयायी के घर से गिरफ्तार किया, जहां वह छिपा हुआ था 

 

सोते रहे अधिकारी… महाराष्ट्र के सरकारी अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत

शनिवार को महाराष्ट्र के एक अस्पताल की विशेष नवजात शिशु देखभाल यूनिट में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो गई. शिशुओं की उम्र एक महीने से तीन महीने के बीच थी. अधिकारियों के अनुसार, भंडारा जिला अस्पताल में आग करीब 1.30 बजे लगी. यूनिट में 17 बच्चे थे, 7 को बचा लिया गया. अस्पताल के नवजात सेक्शन से धुआं निकलते हुए सबसे पहले एक नर्स ने देखा और वहां पहुंचने वाले डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों को सतर्क किया.

दमकल कर्मियों ने यूनिट के ‘इनबाउंड वॉर्ड’ से 7 बच्चों को तो बचा लिया, लेकिन 10 अन्य शिशुओं को नहीं बचा सके.

Bhandara district hospital Fire

ज़िला सिविल सर्जन प्रमोद खांडते ने कहा कि जिस वॉर्ड में नवजात शिशुओं को रखा जाता है, उन्हें ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होती है. कर्मचारियों ने आग बुझाने की कोशिश करते हुए उनका इस्तेमाल किया. बहुत अधिक धुआं था.”

“मृतक बच्चों के माता-पिता को सूचित कर दिया गया है और झुलसे हुए सात नवजात शिशुओं को दूसरे वॉर्ड में भेज दिया गया है. आईसीयू वॉर्ड, डायलिसिस विंग और लेबर वार्ड (प्रसव के लिए अस्पताल में एक कमरा) से मरीजों को भी सुरक्षित रूप से अन्य वार्डों में ट्रान्सफर कर दिया गया.”

Bhandara district hospital Fire

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को आग लगने की घटना की जांच के आदेश दिए. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी आग से मरने वाले बच्चों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये के मुआवज़े की घोषणा की.मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, ठाकरे ने अस्पताल के सिक न्यूबोर्न केयर यूनिट (SNCU) में आग में जलकर मारे गए शिशुओं की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया.

gv

CMO ने कहा, “मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भंडारा में जिला अस्पताल में एक चाइल्ड केयर यूनिट में लगी आग में नवजात शिशुओं की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है. जैसे ही उन्हें इस घटना के बारे में पता चला, उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री राजेश से बात की. टोपे ने पूरी घटना की तत्काल जांच का निर्देश दिया. मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी बात की है और उन्हें भी जांच के लिए निर्देशित किया गया है.”

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे की पूरी जांच की मांग की. महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा, “सरकार को इस घटना की पूरी जांच करनी चाहिए और 10 शिशुओं की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करनी चाहिए. यह बहुत दर्दनाक हादसा है.”